Saturday, June 11, 2011

एक इस्लामी मुल्क में एक नौजवान की सरेआम हत्या




क्या इन्हें मानव कहा जा सकता है? यह किस धर्म को मानते हैं, कौन सी शिक्षा ग्रहण कर आये हुये लोग हैं जो एक नौजवान को सरेआम गोली दाग कर मौत के घाट उतार देते है ? इतना निर्मम , क्रूर और जघन्य आचरण!

15 comments:

  1. लानत है!
    जिसने यह क्लिप बनाकर इन दरिन्दों को एक्सपोज़ किया, अब उसकी जान खतरे में है।

    ReplyDelete
  2. इतना निर्मम लानत है

    ReplyDelete
  3. बहुत ही गलत हुआ !मेरे नयी पोस्ट पर आपका स्वागत है !
    Download Music
    Download Ready Movie

    ReplyDelete
  4. मित्र , इस क्लिप से ये सीख लेने की जरूरत है कि अभी भी वक्त है ,संभल जाओ वर्ना भारत में भी ऐसे कांड होंगे और हमें ऐसी क्लिपें बनाने और देखने का दुर्भाग्य अपनों गाँवों , मोहल्लों और चौराहों पर आसानी से मिलेगा |

    ReplyDelete
  5. एशियाई मुल्कों की पुलिस कुछ ज्यादा हीं बर्बर हैं।

    ReplyDelete
  6. भारत मे भी यही कुछ हो रहा है मित्र बस्तर मे आदिवासी समाज सलवा जुड़ूम और नक्सलवाद के नाम पर ऐसे ही एक दूसरे के खूण का प्यासा हो गया है और इस खूनखराबे मे उम्र लिंग या संबंधो का भी लिहाज नही जो भी विरोधी खेमे का हाथ लगा उसकी मौत इससे भी बुरी तय है ।

    ReplyDelete
  7. सम्माननीय अरुणेश जी यही तो परेशानी है कि जज,जूरी,जल्लाद सब बन जाती है पुलिस.

    ReplyDelete
  8. इस्लामी मुल्कों में सरेआम पत्थर मार-मार कर मारने की परम्परा बहुत पुरानी है। अब यह भी देखना रह गया था।

    ReplyDelete
  9. वीडियो हृदयविराक. इंसान की जान की कीमत ये !

    ReplyDelete
  10. हृदयविराक=हृदयविदारक

    ReplyDelete

मैंने अपनी बात कह दी, आपकी प्रतिक्रिया की प्रतीक्षा है. अग्रिम धन्यवाद.