Sunday, June 5, 2011

सन्न और निशब्द

"





                                                                                                                                                                       "

22 comments:

  1. Baba Ramdev evicted after lathicharge, tear gas shells

    "सन्न और निशब्द"

    :(

    ReplyDelete
  2. maaf kiziye ......... post dikh nahin rahi..

    ReplyDelete
  3. @दीपक बाबा जी-मैंने रात में शांतिपूर्वक सोते हुये लोगों पर हुये लाठीचार्ज के विरोध में ब्लैंक पोस्ट लगाई है...

    ReplyDelete
  4. कहा भी क्या जा सकता है...

    ReplyDelete
  5. कमाल है, इतने कमेंट्स में अभी तक किसी ज्ञानी-विद्वान ब्लॉगर ने ये सब बाबा रामदेव का ही कोई तमाशा, करतब, सरकार के साथ मिलीभगत वगैरह नहीं बताया और न ही इस घटना के पीछे RSS का हाथ होने का अंदेशा जाहिर किया।

    ReplyDelete
  6. @ कमाल है ...
    कमाल अभी सरकारी काम की सरकारी प्रतिक्रिया पढने में व्यस्त है।

    ReplyDelete
  7. शायद अब निशब्द रहने का समय नही है

    ReplyDelete
  8. आदर्श या बेहतर स्थितियां के लिए कल्‍पना हो, विचार या प्रयास, स्‍वागतेय होना चाहिए. हां, यह मिस काल और एसएमएस से संभव करने का विचार निरर्थक होगा.

    ReplyDelete
  9. कहो,कहो जोर से कहो...बहरे लोगों के कान और अन्धों की आँखें फोड़ो अपने शब्दों से ,

    शब्द मौन हो जायेंगे तो अर्थ बिखर जायेंगे !

    इसलिए शून्य कर देना चाहते हैं वे तुम्हें
    पर तुम ऐसा होने मत दो !

    ReplyDelete
  10. ये घटना स्तब्ध और निशब्द कर देने वाली ही है। हमारे देश में जहाँ संस्कारों की दुहाई दी जाती है , वहां सोयी हुयी निर्दोष जनता के साथ ऐसी बर्बरता? आँसू आ गए इस पतन को देखकर।

    ReplyDelete
  11. वह तो हम इतने समय से हैं ही। अब समय बोलने और उस पर अमल करने का है।

    ReplyDelete
  12. दुखद.
    घुघूती बासूती

    ReplyDelete
  13. बात कहने का अच्छा तरीका
    HTTP://VIJAYPALKURDIYA.BLOGSPOT.COM

    ReplyDelete
  14. 80 pratishat aapke saath....or baba apne logon ko chhod kar nahi bhaagte to 100 pratishat ho sakta tha.......sadhuwaad

    ReplyDelete

मैंने अपनी बात कह दी, आपकी प्रतिक्रिया की प्रतीक्षा है. अग्रिम धन्यवाद.